ਕਾਰਡ ਤੋਂ ਕਰੋ ਬਿਜਲੀ ਰਿਚਾਰਜ ਅਤੇ ਪਾਵੋ ਹਰ ਜੂਨਟ 25 ਪੈਸਿਆਂ ਦੀ ਛੂਟ ਦੇਖੋ …..

ਕਾਰਡ ਤੋਂ ਕਰੋ ਬਿਜਲੀ ਰਿਚਾਰਜ ਅਤੇ ਪਾਵੋ ਹਰ ਜੂਨਟ 25 ਪੈਸਿਆਂ ਦੀ ਛੂਟ ਦੇਖੋ …..

Card To Karo Bijali Recharge Ate Pavo Har Unit Chye 25 Pesiya Di Chuat, Dekho,,.....

जबलपुर। प्री-पेड मोबाइल की तरह जल्द ही प्री-पेड बिजली मीटर की सुविधा उपभोक्ता को मिलेगी। इसमें मौजूदा दाम से 25 पैसे प्रति यूनिट कम में बिजली मिलेगी। इतना ही नहीं प्री-पेड में बिजली जलाने वाले उपभोक्ता को मीटर किराया और सुरक्षा निधि जमा नहीं करनी होगी। यानी प्री-पेड पर शिफ्ट होते ही 100 यूनिट पर औसत मासिक बिल पर सीधे 25 रुपए की बचत होगी। इस सुविधा के लिए उपभोक्ता अप्रैल से आवेदन कर सकेंगे।

25 पैसे प्रति यूनिट पर फायदा

मप्र पावर मैनेजमेंट कंपनी ने टैरिफ याचिका दाखिल की है। जिसमें प्री-पेड मीटर वाले उपभोक्ता को 25 पैसे प्रति यूनिट छूट देने का प्रस्ताव रखा है। अभी 20 पैसे प्रति यूनिट ये छूट थी। फिर भी प्रदेश में एक भी प्री-पेड मीटर की सुविधा नहीं शुरू की गई। कंपनी ने ऑफर तो दिया था, लेकिन इसका प्रचार और सुविधा प्रारंभ नहीं की।

10 रुपए का किराया भी नहीं

कंपनी घरेलू उपभोक्ता से 10 रुपए हर महीने मीटर किराया लेती है। प्री-पेड मीटर यदि उपभोक्ता खुद खरीदकर लगाता है तो मीटर किराया भी नहीं लिया जाएगा।

स्मार्ट मीटर में मिलेगा विकल्प

केन्द्र सरकार की नए स्मार्ट मीटर में प्री-पेड का विकल्प होगा। स्मार्ट मीटर में कंपनी का मैसेज सीधे मीटर में पहुंचेगा। बिल का वक्त पर भुगतान नहीं होने पर दफ्तर से कम्प्यूटर के जरिए सप्लाई बंद और चालू हो पाएगी। बिल और मीटर में बढ़ने वाले लोड का ब्योरा भी स्क्रीन में दिखाई देगा। उपभोक्ता स्मार्ट मीटर लगवाने के बाद चाहे तो प्री-पेड की सुविधा ले सकता है।

कैसे मिलेगा प्री-पेड मीटर

प्री-पेड मीटर लगवाने के लिए उपभोक्ता को बिजली दफ्तर में आवेदन देना होगा। बिजली अधिकारी प्री-पेड मीटर की राशि लेकर उपभोक्ता को सुविधा देंगे। पावर मैनेजमेंट कंपनी के सीजीएम टैरिफ फिरोज कुमार मेश्राम ने कहा कि उपभोक्ता को खुद आवेदन करना अनिवार्य है। तभी उसे इसकी सुविधा मिलेगी।

2000 सुरक्षा निधि की बचत

बिजली कंपनी हर उपभोक्ता से सुरक्षा निधि जमा कराती है। सालभर के औसत खपत का 45 दिन की बिजली बिल के बराबर राशि जमा की जाती है। किसी उपभोक्ता के घर 200 यूनिट मासिक औसत खपत है तो उसे करीब 2 हजार रुपए सुरक्षा निधि सालभर के लिए एडवांस में जमा करनी पड़ती है। प्री-पेड मीटर में सुरक्षा निधि जमा नहीं करनी होगी।

प्री-पेड मीटर में 25 पैसे प्रति यूनिट की छूट देने का प्रस्ताव कंपनी ने रखा है। प्री-पेड उपभोक्ता को इससे काफी बचत होगी। -फिरोज मेश्राम, सीजीएम टैरिफ मप्र पावर मैनेजमेंट कंपनी

प्री-पेड मीटर एक तरह से मोबाइल की तरह काम करेगा। एडवांस पैसा देकर उपभोक्ता बिजली का उपयोग कर सकता है। इस सुविधा को शुरू करने पर काम हो रहा है। अजय शर्मा, सीजीएस कमर्शियल, पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी

LEAVE A REPLY